rashi_parivartan_bhraspatidev_muktidham

गुरु के राशि परिवर्तन का प्रभाव आप पर प्रभाव (12 सितम्बर 2017)

प्रिय पाठकों/मित्रों,  वैदिक ज्योतिष के अनुसार देवगुरु बृहस्पति की हर गतिविधि खास मायने रखती है और जिस भाव में बृहस्पति का परिवर्तन होता है उसके अनुसार समस्त राशियों पर इसका प्रभाव पड़ता है। लगभग एक वर्ष एक महीने यानि 13 महीनों के अंतराल पर गुरु का राशि परिवर्तन होता है। इसलिये भी बृहस्पति के राशि परिवर्तन को अहम माना जाता है। 12 सितंबर 2017 (मंगलवार) को बृहस्पति बुध की राशि कन्या से परिवर्तित होकर शुक्र के स्वामित्व वाली राशि तुला में प्रवेश करेंगें। इसी राशि में वे 12 अक्टूबर 2018 तक भ्रमण करेंगे ।

गुरु का शुक्र की कारक राशि में प्रवेश का प्रभाव अन्य लोगों के साथ बातचीत आैर समीकरणों पर पड़ता है। इसका मतलब ये कि इस गोचर का प्रभाव व्यवहारिक पहलुआें पर पड़ता है जैसे हम सभी के साथ समान आैर निष्पक्ष रूप से व्यवहार करने में विश्वास करते है, हम एेसा रवैया अपनाते है जो समझौतापूर्ण आैर लचीला हो, आसपास के लोगों के साथ जुड़ते है यानि उनके साथ सुसंगत रिश्ता रहता है।ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास्त्री ने बताया की देवगुरु वृहस्पति का यह राशि परिवर्तन 12 सितंबर 2017, मंगलवार सुबह 7 बजकर 59 मिनट पर होगा , जब गुरु तुला राशि में प्रवेश करेंगे। बृहस्पति की राशि धनु और मीन है व यह कर्क राशि में उच्च व मकर राशि में नीच का प्रभाव देता |

ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास्त्री ने बताया की गुरु के तुला में गोचर 2017 की ये अवधि आपके लिए अच्छी रहेगी अगर आप समानता में विश्वास रखते हो आैर लचीला रवैया अपनाते हो। वहीं दूसरी आेर, यदि आप सिर्फ अपने बारे में साेचते है आैर अहंकारपूर्ण स्वभाव दिखाते है, तो आप अपने संबंधों में सद्भाव आैर शांति खराब कर सकते है। शुभ फल देने वाला ग्रह गुरू जब अपने शत्रु शुक्र की राशि तुला में प्रवेश करेगा तो इसे एक बड़ी ज्‍योतिषीय घटना की तरह देखा जाना संभव है। देवताओं के गुरू बृहस्‍पति का दानवों के गुरू शुक्र की राशि में प्रवेश कई तरह से तुला राशि वालों और दूसरी अन्‍य राशि के जातकों को प्रभावित करेगा। वैसे शुक्र मीन राशि जो कि गुरू की राशि है में उच्च  का होता है लेकिन स्‍वयं मीन राशि मोक्ष की राशि मानी जाती है।

गुरु के तुला में गोचर का प्रभाव सभी राशियों पर अलग – अलग रूप में पड़ेगा। आइये जानते है कि गुरु का तुला राशि में जाने से जीवन के विभिन्न क्षेत्रों यथा – धन-दौलत, वाणी, भाई-बंधू, माता-पिता, व्यवसाय, परिवार, वैवाहिक जीवन,शिक्षा, भाग्य, प्रेम, केश-मुक़दमा, खर्च, यात्रा, विदेश भ्रमण इत्यादि पर क्या क्या प्रभाव पड़ेगा। ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास्त्री के अनुसार तुला राशि में जाने पर गुरु सबसे पहले मंगल के चित्रा नक्षत्र में भ्रमण करेंगे उसके बाद राहु तथा गुरु के नक्षत्र में भ्रमण करेंगे। नवांश राशि में गुरु तुला राशि से लेकर वृष राशि तक क्रमशः भ्रमण करेंगे। गुरु संतान, ज्ञान, धन, धर्म, न्याय तथा शुभ फल का कारक ग्रह होने के कारण शुभ फल प्रदान करते है। ब्रह्मांड में उपस्थित सभी ग्रहो में गुरु ग्रह को सबसे शुभ ग्रह माना जाता है। तुला राशि में गुरु अपने शत्रु स्थान में होगा अतः पूर्णतः शुभत्व प्रदान करने में असमर्थ होगा।

गुरु के तुला राशि में गोचर/भ्रमण की यह घटना लोगों की जिंदगी में कर्इ महत्वपूर्ण परिवर्तन लाने जा रही है। इस ज्योतिषीय पारगमन से प्रत्येक व्यक्ति के प्रभावित होने की संभावना है हालांकि ये व्यक्ति की राशि पर निर्भर करता है।

ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास्त्री ने बताया की हमें इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि तुला का कारक शुक्र ग्रह है। शुक्र एक प्रमुख ग्रह है आैर जो कि भारतीय ज्योतिष में बहुत महत्व रखता है। शुक्र समृद्घि, शिक्षा अौर किस्मत का प्रतिनिधित्व करता है। चूंकि इन तीन क्षेत्रों में महत्वपूर्ण रूप से मानव नियति निर्धारित की जाती है, एेसे में ये केवल हमारे दैनिक जीवन में शुक्र के महत्व की पुष्टि करता है। तुला राशि का स्‍वामी शुक्र है इसलिए यह जीवन में एशो-आराम और सामाजिक एश्‍वर्य लेकर आता है। तुला राशि से संबंध व्‍यक्‍ति को अच्‍छा व्‍यापारी बनाता है और गुरू से इसका संबंध व्‍यक्ति‍ को धर्म और समाजसेवा की ओर ले जाता है। इस प्रकार यह संयोग व्‍यक्ति को धर्म, ज्ञान और समाजसेवा के क्षेत्र से धनार्जन करने की क्षमता देता है।

गुरू इस गोचर में मंगल, राहू और स्‍वयं के नक्षत्र से गोचर करेगा। राहू गुरू का मित्र नहीं है इसलिए यह तब हानि पहुंचाएंगा जब स्‍वाति नक्षत्र में होगा।

जानिए तुला राशि में गुरु ग्रह के प्रवेश से क्या होगा आप की राशि पर प्रभाव  और कीजिये निम्न उपाय—

1.मेष राशि

इस राशि वालो के लिए गुरु सातवे हाउस से गोचर करेंगे आपके लिए गुरु शुभ रहेंगे जो अभिवाहित है उनके विवाह होने के योग बनेंगे बड़े भाई बहनो से सम्बन्ध मधुर होंगे ।धार्मिक यात्राएं होंगी गुरुजनो से ज्ञान का लाभ होगा ।लाइफ पार्टनर या बिज़नेस पार्टनर से लाभ मिलेगा । कोई कोर्ट केस है तो आपके पक्ष में उसका रिजल्ट आ सकता है । विदेश जाने में रुकावट दूर होगी दाम्पत्य जीवन में मधुरता बढ़ेगी , कभी कभी कुछ अनबन भी संभव है ।स्वास्थय भी उत्तम रहेगा । नए मित्रो से पहचान होगी । काम मेहनत में ज़्यादा लाभ मिलेगा ।आपके लिए देवगुरु श्रेष्ठफल देंगे ।

उपाय……

सात गुरुवार शादी-शुदा जोड़े को भोजन कराकर कुछ पीला कपडा दान दे या फिर गाय को सात गुरुवार हर बार सात केले खिलाये ।

  1. वृष

वृष राशि वालो के लिए गुरु का गोचर रोग और शत्रु भाव के ऊपर से होगा ।छटे हाउस से गोचर होगा ।यहाँ गुरु का बहुत अच्छा फल नहीं मिलता मगर अगर आप कोई बीमारी से पीड़ित है तो सुधार आएगा । अष्टमेश और लाभेश होकर छटे भाग में गोचर करने से विपरीत राज योग का फल मिल सकता है । नौकरी की तालाश जल्दी पूरी होगी ।नौकरी में कुछ नया सोचेंगे जो आपके लिए लाभदायक रहेगा । लोन से जुड़े काम बनेंगे ,थोड़ी ज़्यादा भाग दौड़ रहेगी ।कर्ज से भी धीरे धीरे छुटकारा मिलेगा और कर्ज धीरे -धीरे कम होगा । मामा मौसी से लाभ मिलेगा । माता पिता किसी धार्मिक यात्रा पर जा सकते है ।प्रॉपर्टी को लेकर कोई परेशानी है तो वह सॉल्व हो जाएगी । संतान को धन लाभ हो सकता है, नए काम से नई पहचान मिलेगी । शत्रुओ से संभलकर रहे ।शुगर ,गले की खराबी ,थाइरोइड आदि का ध्यान रखे ।

उपाय …..

अस्पताल में फल या दवाई दे सकते है ।

3.मिथुन

मिथुन राशि वालो की कुंडली में गुरु पांचवे हाउस से गोचर करेगा ।जो आकस्मिक लाभ देंगे । इनकम अच्छी रहेगी । संतान की प्रगति होगी । जो संतान चाहते है उनके लिए यह समय ठीक है । भाग्य आपका साथ देगा ।विद्यार्थियों का पढाई में मन्न लगेगा । परीक्षा में अच्छे नंबर आ सकते है । अच्छे कार्य में सफलता मिलेगी । नए व्यापार के लिए समय अच्छा रहेगा ।धार्मिक कार्य में रूचि बढ़ेगी । बड़ी भाभी ,जीजा जी से सम्बन्धो में मिठास रहेगी ।यह समय मिथुन राशि के जातको के लिए अच्छा रहेगा भाग्य भी साथ देगा ।पिता की उन्नति होगी । लम्बे समय से चली आ रही किसी समस्या का अंत होगा । यह गोचर मिथुन राशि वालो के लिए ज़िन्दगी में महत्व्पूर्ण बदलाव लाएगा ।संगीत और कला से जुड़े लोगों के लिए अच्छा समय रहेगा । सरकारी कर्मचारी को प्रमोशन मिलने के चांस है ।रूठे प्रेमी को भी मन सकते है ।

उपाय ………………

विद्यार्थियों को पिता पेन पेंसिल का दान करे , या फिर पांच गुरुवार को पांच छोटी लड़कियों को भोजन कराकर श्रृंगार का सामान भेट करे ।

4.कर्क …

कर्क राशि वालो की कुंडली में गुरु चौथे भाग से गोचर करेगा ।जो आपके लिए सुख संपत्ति बढ़ाएगा ।नया वाहन, घर लक्ज़री चीज़े खरीद सकते है ।बहुतिक सुख साधन की बढ़ोतरी होगी ।नौकरी में पद प्रतिष्ठा बढ़ेगी ।काम के क्षेत्र में कार्यो की सिद्धि होगी ।नौकरी की तलाश है तो अब वह ख़त्म हो जाएगी ।अगर कर्ज है तो वह धीरे – धीरे उतर जाएगा ।माता के स्वास्थय का ध्यान रखे ।पिता के लिए शुभ समय है उनका मान सम्मान बढ़ेगा । आपके घर धार्मिक पूजा कार्य होंगे।सम्मानीय लोगो का आपके घर आना जाना रहेगा । चौथे भाग का गुरु स्थान परिवर्तन करा सकता है ।भूमि लेने से पहले सभी भूमि के दस्तावेजों की जांच कर ले ।

उपाय ……

माता या माता समान औरतो की सेवा करे और आशीर्वाद ले या भ्रमण इस्त्री को पीले कपडे में चने की दाल बांधकर दान करे और पूजा के स्थान को साफ़ रखे।

5.सिंह ……

सिंह राशि वालो की कुंडली से गुरु तीसरे हाउस से गोचर करेगा ।जिसके कारण छोटे भाई बेहेन से कुछ मन मुटाव हो सकते है ।पंचमेश और अष्टमेश होकर गुरु पराक्रम भाग में गोचर करने से संतान आपसे दूर जा सकती है । पढाई या काम काज की वजह से । इस साल काम की वजह से आपकी यात्राएं अधिक होंगी ।गाडी चलाते समय सावधान रहे । नए रिश्ते , नए दोस्त ,नए पड़ोसी बन सकते है ।दाम्पत्य जीवन में मन मुटाव है तो वो दूर होगा । लाइफ पार्टनर के साथ कही यात्रा पर जा सकते है ।मगर आपस में पर्सनल लाइफ में थोड़ी मुश्किलें आएंगी ।व्यापार ठीक रहेगा , नौकरी में प्रमोशन या बोनस मिल सकता है जिस कारण आर्थिक स्तिथि में सुधार आएगा ।

उपाय ……..

छोटी बेहेन या फ्रेंड को पीली वस्तु गिफ्ट करे ।

6.कन्या …..

कन्या राशि वालो की कुंडली में गुरु दुसरे भाव अर्थात धन भाव से गोचर करेगा ।जिस कारण आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा ।परिवार में मधुरता बानी रहेगी ।नये कार्य होंगे परिवार ने नये सदस्य या संतान के योग बनेंगे ।अटके हुए कार्य पूर्ण होंगे । माता का साथ रहेगा । भूमि में फायदा रहेगा अर्थात धन कमाई में अच्छा समय रहेगा । वाणी में मिठास आएगी । इस साल बैंक बैलेंस अच्छा कर सकोगे ।भूमि के लेन देन में अच्छा लाभ रहेगा ।अगर कोई रोग या बीमारी है तो बीमारी दूर होगी ।पिता के लिए भी अच्छा समय है ।बिज़नेस पार्टनर ,लाइफ पार्टनर और मामा मौसी से सम्बन्धो में लाभ रहेगा ।

उपाय …

ग्यारा गुरुवार मूंग की दाल के हलवे का भोग लगाकर प्रशाद में बांटे या फिर किसी गरीब की धन से मदद करे ।

7.तुला …..

तुला राशि वालो की कुंडली में गुरु लगन भाव से गोचर करेगा । जिस कारण कुछ मानसिक तनाव हो सकता है । सेहत का थोड़ा ध्यान रखे । भाग्य प्रबल रहेगा । वाहन चलते समय सावधानी रखे चोट लग सकती है ।अगर आप परिश्रम करते है तो भाग्य आपका पूर्ण साथ देगा । व्यापार से लाभ प्राप्त हो सकता है ।अपने बच्चो के साथ अच्छे समय का आनंद उठा सकते है उनके साथ रिश्ता और मजबूत होगा । विद्यार्थियो के लिए अच्छा समय है ज्ञान की वृद्धि होगी । अगर आप ठीक से मेहनत करते है तो कोई पुरस्कार भी मिल सकता है । प्रेमियों के लिए प्रेम विवाह में रुकावटे दूर होंगी । तुला राशि वाले जातको के लिए अच्छा समय है ।जो आपको कुछ पहचान या प्रशंसा दिला सकता है । आपके परामर्श से बहुत से लोगो को लाभ मिलेगा । बहुत सी रचनात्मक चीज़ो से डील संभव है ।ड़

उपाय ………

शुक्रवार के दिन लक्ष्मी जी को मिठाई का भोग लगाए व औरतो को बाट दे और गुरु के मंत्र की एक माला का रोज़ जप करे ।

8.वृश्चिक…….

वृश्चिक राशि वालो की कुंडली में गुरु बारवे हाउस से गोचर करेगा । जिस कारण कुछ समस्या आ सकती है व खर्च अधिक होंगे । संतान,परिवार,धार्मिक कार्य , ऐशो आराम पर अधिक खर्चे होंगे ।धन कमाने हेतु घर से दूर जाना पढ़ सकता है ।मेहनत अधिक करनी होगी तभी भाग्य साथ देगा ।विदेश प्रदेश से धनलाभ हो सकता है ।खाने पीने में सावधानी बरते गला ख़राब हो सकता है थोड़ा स्वास्थय का ध्यान रखे । सोशल काम में मान सम्मान मिल सकता है और खर्चे भी होंगे ।भूमि सुख मिलने के योग बनेंगे । अगर कोई बहुत लम्बे समय से बीमार है तो थोड़ी राहत मिल सकती है ।

उपाय …..

केले या पीपल के पेड़ पर जल में हल्दी केसर चन्दन डालकर जल अर्पित करे या पांच गुरुवार पीतल की कटोरी में चने की दाल थोड़ा गुड़ और हल्दी रखकर मंदिर में दान करे ।

9.धनु….

धनु राशि वालो की कुंडली में गुरु लाभ के हाउस से गोचर करेगा ।इसलिए यह समय अच्छा रहेगा । सरकारी नौकरी में प्रमोशन के चांस रहेंगे ।भाई बेहेन मित्र पड़ोसियों से सम्बन्ध मधुर बनेंगे ।दाम्पत्य जीवन खुशाल रहेगा संतान की तरफ से खुश खबरी मिल सकती है देश प्रदेश की यात्रा शुभ रहेगी नए मित्र बनेंगे जो आपके लिए अच्छे रहेंगे । शेयर बाजार में रुके हुए पैसे से अब लाभ हो सकता है । विद्यार्थियों के लिए समय अच्छा है । कला संगीत से जुड़े हुए लोगो के लिए समय ठीक है । अविवाहितों के विवाह होने के योग है ।सामाजिक सेवा के अवसर मिलेंगे जिससे आपको लाभ मिल सकता है ।माँ से प्यार और प्रोत्साहन मिल सकता है ।नए काम की शुरुआत से अचानक लाभ मिलेगा ।पेट ,गले ,फेफड़े ,हृदये का ध्यान रखे कुछ समस्या हो सकती हैं थोड़ी सावधानी बरते तली हुई चीज़ो का कम सेवन करे ।

उपाय …….

हर गुरुवार गाय को कम से कम पांच केले खिलाये व गुरुजन और माता के पैर छूकर आशीर्वाद ले तथा केसर का तिलक लगाए ।

10.मकर……..

मकर राशि वालो की कुंडली में गुरु दसवे हाउस (कर्म) भाव से गोचर करेगा ।जिस कारण पिता को कुछ कष्ट संभव है ।कार्यक्षेत्र में कुछ परेशानी आ सकती है ।सरकारी नौकरी वालो के प्रमोशन के चांस बनेंगे स्थान परिवर्तन हो सकता है । नए रोजगार मिलेंगे । राजकीय लोगो के लिए समय अच्छा रहेगा । मकान वाहन के योग है । कही अगर धन रुका हुआ है तो वह धीरे धीरे मिलना शुरू हो जाएगा घर में फर्नीचर पर खर्च होंगे । घर में धार्मिक या मांगलिक कार्य हो सकते है ।परिवार और माता पिता के लिए यह समय सुखद रहेगा । शत्रु भी मित्र बनते जाएंगे ।आपको प्रॉपर्टी में लाभ हो सकता है । शनि की साडे साती की वजह से कुछ परेशानिया आ सकती है ।लम्बे समय से चले आ रहे रोग से छुटकारा मिलेगा । शत्रु पर विजय प्राप्त होगी ।माता का स्वास्थय उत्तम रहेगा ।

उपाय ……

गुरुवार के दिन वृद्ध आश्रम में भोजन करवाए या दान दे या वृद्ध भ्रमण की सेवा करे ।

11.कुंभ………

कुंभ राशि वालो की कुंडली में गुरु भाग्य भाव से गोचर करेगा ।नवम भाव त्रिकोड़ के साथ लक्ष्मी स्थान भी है । इसलिए भाग्य आपका साथ देगा और लक्ष्मी जी आपके घर होंगी ।धर्म और अध्यात्म में रूचि बढ़ेगी ,संतान सुख मिलेगा ,विद्यार्थियों के लिए अच्छा समय है भाई बहनो से सम्बन्ध मजबूत होंगे ।अगर आप मेहनत करते है तो समाज ,परिवार,व्यापार में अच्छे परिवर्तन आएंगे । जिससे आपकी आमदनी बढ़ेगी । गुरु लाभेश और धनेश होकर भाग्य स्थान में आने से भाग्य के द्वार खुलेंगे । लाइफ पार्टनर के लिए भी अच्छा समय है अगर वो कुछ नया करना चाहते है तो अच्छा समय है ।मान सम्मान बढ़ेगा । दादा दादी नाना नानी बनने के सपने पूरे होंगे ।पूजा पाठ में रूचि बढ़ेगी ।प्रेम युगलो के लिए लव मैरिज के चांस है । खेल खिलाड़ियों को यश की प्राप्ति हो सकती है ।अगर आप किसी सामाजिक कार्य से जुड़े है तो पुरुष्कार मिलने की संभावना है ।

उपाय ……….

घर में सत्यनारायण की कथा कराये व मंदिर में पुजारी को एक पीले वस्त्र में चने की दाल फल बादाम गुड़ आदि बांधकर दान करे ।

12.मीन …….

मीन राशि वालो की कुंडली में गुरु अष्टम भाव से गोचर करेगा ।जो अचानक दोनों तरह के अच्छे बुरे फल दे सकता है ।वैसे करमेश और लवनेश होकर अष्टम भाव से गुरु का गोचर अच्छा फल नहीं देता । थोड़ा निराशा वादी बनाता है । आपके और पिता के स्वास्थय पर कुछ रुपये खर्च हो सकते है । पुराने शत्रु परेशान कर सकते है ।जीवन में अचानक कुछ समस्याए आ सकती है ,मगर भाई बहनो से मदद मिलेगी । इन्शुरन्स या बीमा के रुपये मिल सकते है या अकास्मिक लाभ हो सकता है ।गूढ़ विद्याओ में रूचि बढ़ेगी । गुप्त प्रेम सम्बन्ध उजागर होंगे । पढाई के क्षेत्र में अधिक मेहनत करनी होगी नहीं तो परेशानी हो सकती है ।विदेश यात्रा के योग बनेंगे । कोई गुप्त बीमारी भी हो सकती है ।वाहन चलाते समय ध्यान रखे । खान पान का ध्यान रखे नहीं तो लीवर सम्बंधित परेशानी हो सकती है ।यूरिन इन्फेक्शन या कोई पुरानी बीमारी दोबारा सामने आ सकती है ।

उपाय – एक माला रोज महामृत्युंजय मंत्र की करे या ग्यारह गुरूवार इक्कीस बादाम और सवा किलो आलू ज़रूरतमंद को दान दे ।

[कृपया ध्यान देंः ये भविष्यवाणियां चंद्र राशि को ध्यान में रखकर की गई हैं। लेकिन, इसका कुछ प्रभाव लग्न राशि वालों पर भी लागू होंगे]

 




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *