आपके व्यक्तित्व के बारे में हर रंग कुछ कहता है

आपके व्यक्तित्व के बारे में हर रंग कुछ कहता है

ज़्यादातर लोग कुछ विशेष रंग के कपड़ों का प्रयोग कुछ ज़्यादा करते हैं इससे उनके स्वभाव व व्यक्तित्व का काफी पता चलता है।

लाल रंग – इस रंग के कपड़े ज़्यादा पहनने वाले लोग गुस्सेबाज़, कामुक, उत्साही, ऊर्जावान तथा प्रबल इच्छाशक्ति वाले होते हैं जो ठान लेते हैं उसे करके ही दम लेते हैं सुनते कम व सुनाते ज़्यादा हैं इनमे धैर्य की कमी होती हैं जिससे इन्हें कई बार हानी का सामना करना पड़ता हैं अपनी हरकतों व बातों के द्वारा ये सदा आकर्षण का केंद्र बनना चाहते हैं। यह जातक मंगल ग्रह से प्रभावित होने के कारण ज़्यादातर मेष अथवा वृश्चिक राशि के हो सकते

हैं

काला रंग- यह रंग त्याग व रहस्यात्मकता दर्शाता हैं जिस कारण इनका प्रयोग करने वाले लोग अच्छे विचारवान व अनुशासित होते हैं जिन्हे स्वयं पर पूरा नियंत्रण होता हैं यह अपनी ज़िम्मेदारी बखूबी निभाना जानते हैं इनके जीवन में आकस्मिक घटनाएं ज़्यादा होती हैं जिस कारण इनके व्यक्तित्व व कार्य पर हमेशा प्रश्नचिह्न लगता रहता हैं | यह जातक शनि ग्रह से संबन्धित होने के कारण मकर या कुम्भ राशि के हो सकते हैं।

सफ़ेद रंग- इस रंग का प्रयोग करने वाले जातक शांत, संतुलित, स्पष्टवक्ता, सकारात्मक व आशावादी दृस्टीकोण रखने वाले होते हैं खुले विचारो वाले ये लोग एकांत एवं साधारण जीवनशैली में रहना व जीना पसंद करते हैं। यह जातक चन्द्र ग्रह से प्रभावित होने के कारण कर्क राशि के हो सकते हैं।

पीला रंग- ऐसे जातक चुनौती पसंद, प्रेरणा प्रदान करने वाले व सदा अपने कार्यो में लगे रहने वाले होते हैं आध्यात्मिक प्रवृति के लोग सहजता से जीवन गुजारना पसंद करते हैं इनकी वाणी में मिठास, समर्पण व अपनत्व की भावना अधिक होती हैं। ऐसे लोग गुरु ग्रह से प्रभावित होने के कारण धनु व मीन राशि के हो सकते हैं।

नीला रंग – ऐसे लोग आत्मनिर्भर व गहरे विचार रखने वाले होते हैं, काल्पनिक व व्यावहारिक दोनों प्रकार का दृस्टीकोण रखते हैं। शांत एवं ज़रूरत से ज़्यादा श्रम करने के शौकीन तथा किसी भी बात की तह तक जाना पसंद करते हैं जिस कारण इन्हें कई बार दूसरों की जिम्मेदारियां भी पूरी करनी पड़ती हैं। ऐसे जातक शनि व शुक्र दोनों ग्रहों के प्रभाव में रहते है।

हरा रंग- यह जातक अपनी वाणी से किसी को भी अपना बना लेते हैं परंतु किसी पर जल्दी से भरोसा नहीं करते, स्वतंत्र जीने के शौकीन यह लोग किसी के अधीन ना रहकर घूमने फिरने का बेहद लगाव रखते हैं। हर समस्या का समाधान इनके पास होता हैं। ऐसे जातक बुध ग्रह से प्रभावित होने के कारण मिथुन या कन्या राशि के होते हैं .

भूरा रंग-यह लोग आत्मकेंद्रित,अकेले जीवन जीने वाले तथा स्वनियंत्रित होते हैं अच्छे मार्गदर्शक व आलोचक हो सकते हैं समय का नियोजन ना कर पाने के कारण हमेशा तनाव मे रहते हैं . इन जातको पर राहू ग्रह का ज़्यादातर प्रभाव रहता हैं .

गुलाबी रंग– इस रंग को चाहने वाले जातक स्नेही, उदार व समझदार होते हैं परंतु इनमें इच्छाशक्ति का अभाव होता हैं अपनी उम्र के हिसाब से इनमें बचपना अधिक रहता हैं छोटी सी बात भी इन्हें परेशान कर देती हैं .यह लोग सूर्य ग्रह से प्रभावित होने के कारण सिंह राशि के हो सकते हैं।

पंडित विशाल दयानन्द शस्त्री

(ज्योतिष सलाहकार) राष्ट्रीय महासचिव

भगवान परशुराम राष्ट्रीय पंडित परिषद्




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *