badrinath_kedarnath_yatra_muktidham

11 मई से शुरू होगी केदारनाथ-बद्रीनाथ यात्रा – इस बार होगी श्रद्धालुओं की भीड़ ज्यादा

सूत्रों के अनुसार, भगवान बद्री विशाल की पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं में भारी उत्साह है। इन दिनों साइकल से और पैदल यात्री बद्रीनाथ धाम पहुंच रहे हैं। फिलहाल हनुमानचट्टी से ऊपर यात्रियों के जाने पर रोक लगी हुई है जिसके चलते यात्रियों ने पांडुकेश्वर, गोविंदघाट और हनुमानचट्टी में ही यात्रियों ने डेरा डाल दिया है।
कपाट खुलने से पहले ही यात्रियों की आमद से श्री बद्रीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति समेत स्थानीय व्यवसायी भी काफी खुश हैं। मंदिर समिति द्वारा पहले ही इस वर्ष सात लाख से अधिक यात्रियों के बद्रीनाथ धाम आने का अनुमान लगाया गया है। इसके लिए यात्रा पड़ावों पर भी तैयारियां शुरू हो गई हैं।
वर्ष 2013 में उत्तराखंड में आई आपदा के साथ चारधाम यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं के भीतर जो भय समा गया था, वह अब धीरे-धीरे कम होने लगा है। इसी के तहत वर्ष 2014-15 में चारधाम यात्रा के लिए जितने यात्री गए थे, अबकी 2016 की यात्रा में उनकी संख्या कई गुना ज्यादा है। नौ मई को केदारनाथ और 11मई को बद्रीनाथ के कपाट खुलेंगे। इसके लिए बड़ी संख्या में वहां के आश्रमों में श्रद्धालुओं के पहुंचने की संभावना है। इलाहाबाद से भी तकरीबन एक हजार श्रद्धालुओं ने वहां के लिए बुकिंग कराई है। इलाहाबाद के दारागंज से चंदू और भइयन गुप्ता की अगुवाई में 25श्रद्धालुओं का जत्था 30 मई को चारधाम यात्रा के लिए रवाना होगा।

षडदर्शन साधु समाज समिति के अध्यक्ष एवं मनकामेश्वर मंदिर के व्यवस्थापक स्वामी श्रीधरानंद ब्रह्मचारी के मुताबिक केदारनाथ तबाही के बाद चारधाम यात्रा के लिए गिने-चुने यात्री ही गए थे, वहीं इस बार आश्रमों में जगह नहीं है। बद्रीनाथ के कपाट खुलने से पहले चार मई को गंगोत्री, छह मई को यमुनोत्री और नौ मई को केदारनाथ के कपाट खुलेंगे। सर्वाधिक बुकिंग 28मई से लेकर 20जून तक की है। चारधाम विकास परिषद के उपाध्यक्ष ब्रह्मचारी सुबुधानंद कहते हैं, श्रद्धालुओं को यात्रा के दौरान कोई समस्या न हो, इसके लिए संतों की ओर से भी व्यवस्था की जा रही है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *