rashi_gems_muktidham

जानें किस राशि को कौन का रत्न पहनना चाहिए

रत्न यानी जेम्स स्टोन का ज्योतिष में काफी महत्व बताया गया है। ऐसा माना जाता है कि रत्न पहनने से संबंधित ग्रहों के दोष का निवारण हो जाता है और जीवन में चल रही परेशानियां खत्म हो सकती हैं। आइए जानते हैं कि ज्योतिष विद्या में कितने तरह के रत्‍नों के बारे में बताया गया है और किसका उपयोग किस लिए किया जाता है-

नौ प्रकार के होते हैं रत्न

रत्न मुख्यतः नौ प्रकार के होते है। ज्योतिष बताते हैं कि सूर्य की प्रबलता के लिए माणिक, तो चन्द्र के लिए मोती पहनना चाहिए। इसी तरह जिसका मंगल ग्रह कमजोर होता है उसे मूंगा पहनने की सलाह दी जाती है। वहीं बुध के लिए पन्ना, गुरु के लिए पुखराज, शुक्र के लिए हीरा, शनि के लिए नीलम, राहु के लिए गोमेद, केतु के लिए लहसुनियां पहना जाता है।

जितना अच्छा रत्न, उतना अच्छा प्रभाव

सभी रत्नों का उप रत्न भी होता है, जितना अच्छा रत्न होता है। उसका प्रभाव भी उतना अधिक होता है। सभी रत्नों का उनके ग्रहों के अनुसार दिन और अंगुलियां निर्धारित की गई है। रत्नों को शुभ समय में धारण करना चाहिए। मूंगा, नीलम और मानिक एक ही हाथ में नहीं पहनना चाहिए। आइये राशियों के मुताबिक जानते हैं कि कौन सी राशि को कौन सा रत्न धारण करना शुभ रहेगा। 

मेष- आपने लिए भाग्यवर्धक रत्न है मूंगा, इसे तांबे में बनवाकर, बाएं हाथ की प्रथम उंगली में पहनें। इसके अलावा माणिक्य, मोती और गारनेट भी पहन सकती हैं।

वृषभ – हीरा, सफेद पुखराज या पन्ना( 36 वर्ष आयु प्रयंत या दो संतान होने के बाद) सोने में बनवाकर, बाएं हाथ की तीसरी उंगली में पहनें।

मिथुन – पतिसुख व करियर के विकार के लिए पीला पुखराज पहनें। व्यक्तित्तव के विकास व ग्रहसुख के लिए पन्ना, दैनिक सुख-शांति हेतु टरकोआस पहन सकते हैं।

कर्क – आपके लिए सबसे उपयुक्त रत्न है मोती, चांदी में बनवाकर पहनें। इसके अलावा मूंगा भी पहन सकते हैं।

सिंह– सूर्य का प्रिय रत्न है माणिक्य, इसे पहनने से आप परिवार, समाज, कार्यक्षेत्र में सूर्य की तरह चमकेगें। पन्ना पहनने से भी सहायता मिलती है।

कन्या– पन्ना, मोती, हीरा या फिर पीला पुखराज पहनना व्यक्तित्व के निखार व करियार के विकास, संचित धनवृद्धि और पति व पारिवारिक सुखप्राप्ति में सहायक होगा.

तुला – बाएं हाथ की तीसरी उंगली में हीरा, दूसरी उंगली में नीलम, सफेद टोपाज या मूनस्टोन पहनना सदैव शुभफलदाई होगा।

वृश्चिक – पीला पुखराज व गहरे लाल रंग का मूंगा, सोने या तांबे की अंगूठी में जड़वाकर पहनना सदैव अनिष्टों से बचाने में सहायक सिद्ध होता है.

धनु – बाएं हाथ की प्रथम उंगली में पुखराज टोपाज पहनना सुख-समृद्धि व दांपत्य सुखप्राप्ति में सदैव सहायक होगा।

मकर – सोने की अंगूठी में नीलम, बाएं हाथ की दूसरी उंगली में पहनना शनिदेव द्वारा जनित कष्टों का निवारण करेगा।

कुंभ – सोने की अंगूठी में नीलम, बाएं हाथ की दूसरी उंगली में पहनने में आपमें दुनियावी, भौतिक व आत्मिक सुखों को भोगने की शक्ति प्राप्त होगी।

मीन – पाली पुखराज बाएं हाथ की प्रथम उंगली में पहनाना सदैव कल्याणकारी व आपके कर्मक्षेत्र के लिए शुभलाभदाई होगा।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *